Twitter

Facebook

Youtube

Pintrest

RSS

Twitter Facebook
Spacer
Samay Live
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

06 Feb 2012 01:12:24 PM IST
Last Updated : 06 Feb 2012 01:23:43 PM IST

अनाचार की कोशिश नाकाम,आदिवासी छात्रा को चलती ट्रेन से फेंका

आदिवासी छात्रा को चलती ट्रेन से फेंका (फाइल फोटो)
आदिवासी छात्रा को चलती ट्रेन से फेंका (फाइल फोटो)

 

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में छात्रवृत्ति का पैसा दिलाने के लिए ले जा रहे एक अधेड़ ने आदिवासी छात्रा के साथ अनाचार की कोशिश की.

आदिवासी छात्रा के साथ अनाचार की कोशिश की और नाकाम होने पर उसे चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया है.छात्रा को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
 
कोरबा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रविवार को जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुसमुंदा रेलवे स्टेशन के करीब 45 वर्षीय व्यक्ति रामदयाल केंवट ने सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली 12 वर्षीय आदिवासी छात्रा मंजू बिंझवार को चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया.

घटना के बाद अन्य यात्रियों ने इसकी जानकारी जब पुलिस को दी तब पुलिस ने मंजू को अस्पताल में भर्ती कराया.घटना के बाद से आरोपी फरार है.
 
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के भैसमुड़ा गांव के निवासी रामाधार बिंझवार के घर में रामदयाल केंवट का आना जाना है.

रामदयाल केंवट ने रविवार को रामाधार को बताया कि वह उसकी :रामाधार की: बेटी मंजू को कुसमुंदा गांव छात्रवृत्ति के लिए ले जा सकता है तथा वहां से वापस घर पहुंचा सकता है.
 
रामदयाल द्वारा भरोसा दिलाने पर रामाधार उसकी बातों में आ गया तथा मंजू को रामदयाल के साथ भेज दिया.

मंजू और रामदयाल भैसमुड़ा गांव जाने के लिए करीब के रेलवे स्टेशन सरगबुंदिया तक पहुंचे और छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में सवार हो गए.

ट्रेन जब कोरबा स्टेशन पहुंची तब रामदयाल मंजू को अन्य खाली बोगी में ले गया तथा उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा.

इस घटना से मंजू घबरा गई और शोर मचाने लगी.

अधिकारियों ने बताया कि मंजू द्वारा शोर मचाने पर जब रामदयाल ने देखा कि वह मंजू के साथ अनाचार करने में कामयाब नहीं हो पा रहा है तब उसने मंजू को कुसमुंदा रेलवे स्टेशन के पास चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया.

इस घटना की जानकारी जब दूसरी बोगी के अन्य यात्रियों को हुई तब उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी तथा मंजू को अस्पताल पहुंचाया गया.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मंजू द्वारा दी गई जानकारी के बाद पुलिस मंजू के पिता रामाधार तक पहुंची और उसे घटना की जानकारी दी.

रामाधार ने पुलिस को बताया कि घटना के बाद रामदयाल रामाधार के पास पहुंच गया था तथा रामदयाल ने रामाधार को बताया कि मंजू पागल हो गई है तथा उसके हाथों में दांत से काटकर भाग गयी  है.

उसके इलाज की व्यवस्था करो.इसके बाद रामाधार अपनी बेटी की खोज में निकल गया था.

अधिकारियों ने बताया कि घटना के बाद से आरोपी रामदयाल फरार है तथा पहले ही उसके खिलाफ चोरी, मारपीट और डकैती समेत अन्य मामले दर्ज हैं.पुलिस ने रामदयाल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.


 

लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा FACEBOOK PAGE ज्वाइन करें.

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :



 

10.10.70.51